HomeVideoमधुमेह - कारण, लक्षण और उपचार | Diabetes in Hindi | Diabetes Treatment in Hindi

मधुमेह - कारण, लक्षण और उपचार | Diabetes in Hindi | Diabetes Treatment in Hindi



Please Subscribe, Share and like.
Facebook – https://www.facebook.com/Healthcareforyou.in/
Website – http://www.healthcareforyou.in/

आजकल मधुमेह की बीमारी आम बीमारी है। डायबिटीज से हर दो मिनट में एक मौत हो रही है और कॉम्प्लिकेशन तो बहुत हो रहे है – किसी की किडनी खराब हो रही है, किसी का लीवर खराब हो रहा है, किसी को ब्रेन हेमरेज हो रहा है, किसी को पैरालिसिस हो रहा है, किसी को ब्रेन स्ट्रोक आ रहा है, किसी को हार्टअटैक आ रहा है। इसके कॉम्प्लिकेशन बहुत खतरनाक है।

मधुमेह (Diabetes)

मधुमेह क्या है ?

( What is diabetes ? )

मधुमेह या चीनी की बीमारी एक खतरनाक रोग है। इसमें रक्त ग्लूकोज स्तर बढा़ हुआ मिलता है। मरीजों में रक्त कोलेस्ट्रॉल ( वसा ) के अवयव के बढने के कारण ही मधुमेह रोग होता है। इन मरीजों में आँखों, गुर्दों , स्नायु (Muscles) , मस्तिष्क, हृदय के क्षतिग्रस्त होने के कारण गंभीर, जटिल, घातक रोग होने का खतरा बढ़ जाता है। भोजन पेट में जाकर एक प्रकार के ईंधन में बदलता है जिसे ग्लूकोज कहते हैं। यह एक प्रकार की शर्करा होती है। ग्लूकोज रक्त धारा में मिलता है और शरीर की लाखों कोशिकाओं में पहुंचता है। ग्लूकोज की तरह इनसुलिन भी रक्तधारा में मिलकर कोशिकाओं तक जाता है।

मधुमेह का कारण

( Cause of Diabetes )

मधुमेह बीमारी का असली कारण जब तक आप लोग नही समझेंगे, आपकी मधुमह कभी भी ठीक नही हो सकती है। जब आपके रक्त में वसा ( कोलेस्ट्रोल ) की मात्रा बढ़ जाती है, तब रक्त में मौजूद कोलेस्ट्रोल कोशिकाओं के चारों तरफ चिपक जाता है, और खून में मौजूद इन्सुलिन कोशिकाओं तक नही पहुँच पाता है। ( इंसुलिन की मात्रा तो पर्याप्त होती है किन्तु इससे रिसेप्टरों को खोला नहीं जा सकता है, अर्थात पूरे ग्लूकोज को ग्रहण करने के लिए रिसेप्टरों की संख्या कम हो सकती है ) वो इन्सुलिन शरीर के किसी भी काम में नहीं आता है, जिस कारण से शरीर में हमेशा शुगर का स्तर हमेशा ही बढ़ा हुआ होता है। जबकि जब हम बाहर से इन्सुलिन लेते है तब वो इन्सुलिन नया-नया होता है तो वह कोशिकाओं के अन्दर पहुंच जाता है, अब आप समझ गये होंगे कि मधुमेह का रिश्ता शुगर से नहीं कोलेस्ट्रॉल से होता है।

मधुमेह का लक्षण

( Symptoms of Diabetes )

सम्भोग के समय बहुत तकलीफ होती है तो आप समझ जाइये, आपको मधुमेह हो चूका है या होने वाला है। क्योंकि जिस आदमी को मधुमेह होने वाला हो तो उसे सम्भोग के समय बहुत तकलीफ होती है, क्योंकि मधुमेह से पहले जो बीमारी आती है वह सेक्स में प्रोब्लम होना होती है। मधुमेह रोग में शुरू में तो भूख बहुत लगती है, लेकिन धीरे-धीरे भूख कम हो जाती है। शरीर सुखने लगता है, कब्ज की शिकायत रहने लगती है। अधिक पेशाब आना और पेशाब में चीनी आना शुरू हो जाती है और रोगी का वजन कम होता जाता है। शरीर में कहीं भी जख्म या घाव होने पर वह जल्दी नहीं भरता। तो ऐसी स्थिति में हम क्या करें ?

मधुमेह के लिए इलाज

( Treatment For Diabetes )

राजीव भाई की एक छोटी सी सलाह है कि आप इन्सुलिन पर ज्यादा निर्भर ना करें। क्योंकि यह इन्सुलिन डायबिटीज से भी ज्यादा खतरनाक है। इन्सुलिन के साइड इफेक्ट्स बहुत होते है। इस बीमारी के घरेलू उपचार निम्न लिखित हैं –

आयुर्वेद की एक दवा है जो आप घर में भी बना सकते है –

100 ग्राम मेथी का दाना
100 ग्राम करेले के बीज
150 ग्राम जामुन के बीज
250 ग्राम बेल के पत्ते (जो शिव जी को चढाते है )
इन सबको धुप में सुखाकर पत्थर में पिसकर पाउडर बना कर आपस में मिला ले यही औषधि है ।

औषधि लेने की पद्धति

( Method of Taking Medicine )

सुबह नाश्ता करने से एक घंटे पहले एक चम्मच गरम पानी के साथ लें, फिर शाम को खाना खाने से एक घंटे पहले लें। अर्थात सुबह-शाम खाना खाने से पहले एक-एक चम्मच पाउडर गरम पानी के साथ आपको लेना है । डेढ़-दो महीने अगर आप ये दवा लेंगे तो मधुमेह ठीक हो जायेगा। ये औषधि तीन महीने तक चलेगी और उतने दिनों में आपकी शुगर बिलकुल ठीक हो जाएगी।

सावधानियाँ ( Precautions )

शुगर के रोगी ऐसी चीजें ज्यादा खायें जिसमें फाइबर हो रेशे ज्यादा हो।
घी, तेल वाली चीजें कम खायें और फाइबर वाली चीजें ज्यादा खायें। सब्जियां में बहुत रेशे होते है वो खायें। दाल जो छिलके वाली होती है वो खायें, मोटा अनाज ज्यादा खायें, रेशे वाले फल ज्यादा खायें।
चीनी कभी ना खायें, डायबिटीज की बीमारी को ठीक होने में चीनी सबसे बड़ी रुकावट है। लेकिन आप गुड़ खा सकते है।
दूध और दूध से बनी कोई भी चीज नहीं खानी चाहिये।
प्रेशर कुकर और एल्यूमीनियम के बर्तन में खाना ना बनाएं।
रात का खाना सूर्यास्त के पूर्व खा लेना चाहिए।
आनुवंशिक डायबिटीज कभी पूरी तरह ठीक नहीं होती है, सिर्फ कण्ट्रोल हो सकती है, उनको ये दवा पूरी जिन्दगी खानी पडेगी। पर जिनको आनुवंशिक नहीं है उनकी डायबिटीज पूरा ठीक हो जायेंगी।

source

Previous post
best diet for diabetes type 2
Next post
best diet for type 2 diabetes

Leave a Reply

Be the First to Comment!

Notify of
avatar
wpDiscuz